19/03/2022 निर्मल ठाकुर, परिवर्तन का शंखनाद

ड्यूटी एंव बचाव कार्य में लगे मल्ला काठगोदाम चौकी प्रभारी की गोला बैराज में डूबने से मौत हो गई। जबकि दोस्त की हालत नाजुक बताई जा रही है। घटना की सूचना मिलते ही अस्पताल में एसएसपी पंकज भट्ट समेत जिले के तमाम आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए।

मूलरूप से बरेली के रहने वाले अमरपाल यादव 2015 बैच के दरोगा थे। किच्छा में उन्होंने अपना घर बनाया था और दो साल पहले उनका विवाह हुआ था। अमरपाल पत्नी के साथ मल्ला काठगोदाम चौकी के फैमली क्वाटर में रहते थे। बताया जाता है कि शनिवार को होली की व्यवस्था में लगे अमरपाल ने गौला बैराज के रास्ते बैरीकेडिंग कर बंद कर दिए थे।

ताकि होली खेलने के बाद कोई नहाने के लिए बैराज न जा सके। दोपहर बाद जब होली का कार्यक्रम समाप्त हो गया तो चौकी प्रभारी अमर पाल यादव विकास प्राधिकरण में तैनात दोस्त दीपक कुमार और गौला बैराज के गोताखोर प्रताप गड़िया के साथ बैराज में बचाव कार्य के दौरान अचानक अमर पाल और दीपक डूबने लगे। जिस वक्त यह घटना हुई अमर पाल और दीपक बैराज में करीब तीस मीटर अंदर थे। आनन-फानन में प्रताप बचाव कार्य में लग गए।

डूबते दीपक को किसी तरह प्रताप ने बचाया और किनारे तक लेकर आए। जिसके बाद चौकी प्रभारी अमर पाल को बचाने के लिए बैराज में छलांग लगा दी, लेकिन तब तक वह डूब चुके थे। जिसके बाद बैराज के गेट खोल कर उन्हें बाहर निकाला गया। आनन-फानन में उन्हें इलाज के लिए नैनीताल रोड स्थित एक अस्पताल ले जाया गया।

जहां प्रयास के बावजूद चिकित्सक उनकी जान नहीं बचा सके। जानकारी पर एसएसपी पंकज भट्ट, एसपी सिटी हरबंस सिंह, एसपी क्राइन डॉ जगदीश चंद्र समेत तमाम पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। एसएसपी ने पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया। एसएसपी पंकज भट्ट ने बताया कि घटना किन परिस्थितियों में हुई है, इसकी जांच कराई जाएगी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.