wp-1644515413024.jpg

17 फरवरी 2022 मनीष सपरा परिवर्तन का शंखनाद

उत्‍तर प्रदेश के कुशीनगर में कल रात एक दर्दनाक हादसे में 13 लोगों की मौत हो गई। जिले के नौरंगिया के स्कूल खास टोला में रात करीब साढ़े आठ बजे गांव की महिलाएं और युवतियां मटकोड़ (विवाह के पहले निभाई जाने वाली एक रस्‍म) के निकलीं थीं। उनके साथ बच्चे और किशोरियां भी थीं। नौ बजे मटकोड़ के बाद लौट रहे सभी लोग आगे कुएं के पास जमा हुए और नाच गाना शुरू हो गया। स्लैब पड़ा होने से किसी को पता ही नहीं चला कि यह धरातल है या कुएं की स्लैब। स्लैब पर भीड़ बढ़ गयी और वह टूटकर गिर गया।

कुछ ही देर में चीख पुकार मच गई। हादसे की खबर गांव के लोगों को हुई। भीड़ जुटी और लोगों को निकालने के प्रयास में जुट गयी। अंधेरा था, इसलिए यह लगा था कि कम लोग गिरे होंगे। ग्रामीणों ने बताया कि लंबी सीढ़ी लगाकर गिरे लोगों को निकालने का प्रयास शुरू हूआ। कुछ देर में भीड़ जुटी टार्च से रोशनी की गई तो पता चला कि कई लोग गिरे हैं। इसके बाद एंबुलेंस के लिए 112 नंबर पर सूचना दी गयी। संपर्क मे देर हुई।

इससे पहले ही पुलिस आ चुकी थी। पुलिस के प्रयास से फायर ब्रगेड को बुलाया गया। कुएं में पाइप के साथ पंप लगाया गया। कुएं पानी खाली होने पर पता चला कि कुल 23 लोग गिरे थे। सभी को अस्पताल भेजा गया। इनमें 13 की मौत की सूचना मिली है। अफरा तफरी का माहौल है। शिनाख्त होने में वक्त लगेगा। उधर, सांसद विजय दुबे, विधायक जटाशंकर त्रिपाठी ने बताया कि हादसे की सूचना सीएम कार्यालय को दे दी गई। बचाव कार्य किया जा रहा है। घायलों के इलाज के लिए टीम लगाई गई है।

हादसे में 13 लोगों की मौत हुई है। वह जहां नाच-गा रही थीं, वहां कुएं पर स्लैब 12 साल साल पहले लगा था। वह जमीन के बराबर में है। काफी लोग वहां बैठ गए थे। उन्हें नहीं पता था कि वहां कुआं या स्लैब होगा। हादसा होने के बाद अफरातफरी मच गयी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.